cart 0 0

रस्टिक आर्ट द्वारा नई माँ के लिए बेबी केयर गाइड

रस्टिक आर्ट द्वारा नई माँ के लिए बेबी केयर गाइड

नवजात शिशु का आगमन माता-पिता ओर सभी  प्रियजनों के जीवन में हषोल्लास भर देता है। परिवार के हर सदस्य का जीवन नन्हे मुन्ने बच्चे के इर्द गिर्द घूमने लगता है।नाज़ुक से बच्चे के इर्द गिर्द की नई नई चीजें ओर आसपास का महौल उसके लिए असुरक्षित हो सकता हैं।ऐसे मे नन्हे मुन्ने बच्चे  की देखभाल अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाती है, इसलिए सही उत्पादों का चुनना बहुत जरूरी है।

नन्हे मुन्ने कि तेल मालिश नित्य क्रिया का महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए, मालिश का तालमेल शिशु की  अच्छी मांसपेशियों, त्वचा, बालों और हड्डियों के स्वास्थ्य के साथ जुड़ा होता है। मालिश के लिए सही तेल चुनना अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि बाजार में शिशु की मालिश के लिए सस्ते और जहरीले खनिज (मिनरल) तेलों की भरमार है। किसी भी हर्बल तेल में वनस्पति तेल का सिर्फ 2 से 5% हो सकता है और बाकी खनिज (मिनरल) तेल हो सकता है क्योंकि यह सस्ता और प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। इसमें कृत्रिम खुशबू भी मिली हो सकती है।

रस्टिक आर्ट कैलेंडुला मसाज ऑयल  को कोल्ड प्रेस्ड  जैविक तेलों को, जैसे तिल का तेल बदाम का तेल और मोरिंगा आदि मिश्रित करके बनाया गया है ओर इसमें  कैलेंडुला का अर्क भी होता हैं जो शिशु की कोमल त्वचा को निखारता है, हल्के चकत्ते, एलर्जी, छिली हुई त्वचा आदि को ठीक करने में मदद करता है। तेल के नियामित उपयोग से क्रेडल कैप यानी कि अगर शिशु कि सिर पर पपड़ी जमी हो वह गायब हो जाती हैं। सिर के अकार को समतल करने मे ओर रक्त परिसंचरण में सुधार करके बालों के रोम को मजबूत करने  मे भी तेल का उपयोग काफी मददगार है।बढ़ती उम्र के बच्चों की मांसपेशियों में अकसर पीड़ा होती है, गुनगुने तेल की मालिश से नन्हे मुन्ने को राहत मिलती है।  मालिश के बाद बच्चों को अच्छी सुखद नींद आती है।

स्थानीय बाजारों में उपलब्ध कोल्ड प्रेस्ड जैविक तेलो का भी आप उपयोग कर सकते हैं,जैसे गर्मियों में वर्जिन नारियल तेल जो नमी के साथ-साथ ठंडक भी  प्रधान करता है ,तिल का तेल और सरसों का तेल जाड़ों में गर्माहट देते हैं, बदाम का तेल और ऑलिव ऑयल नमी प्रदान करते हैं, हेंप ऑयल यानी कि गांजे का तेल, इसमें चिकनाहट कम होती है पर यह काफी  लाभदायक होता है।

शिशु को नहालाने या  स्पंज करने के लिए गुनगुने पानी का  इस्तेमाल करें और साथ में सौम्य उबटन यह सौम्य प्राकृतिक साबुन का इस्तेमाल करें।रस्टिक आर्ट  बेबी सोप एक सौम्य साबुन है और एलो हल्दी बेबी बॉडी वाश एक सौम्या पेस्ट है,जो वनस्पति तेलों से बना होता है और यह कृत्रिम रंग,कृत्रिम  सुगंध ओर विषैले रसायनों आदि से मुक्त होता है।रस्टिक आर्ट यारो मोरिंगा शैम्पू बटर अनावश्यक पानी से मुक्त है, नीम के पत्तों का शैंपू बार  पानी रहित हैं, कोकोनट नेकटर  शैम्पू काफी  सौम्य है और सिर की त्वचा को साफ रखता है।हमारा सुझाव  तो यह है कि जब शिशु दो से तीन महीने का हो जाए उसके बाद साबुन और शैंपू का उपयोग करें  क्योंकि हमारा मानना  ​​है कि बच्चे को कई उत्पादों के साथ एकदम से उजागर नहीं करना चाहिए क्योंकि बच्चा अपने आस-पास के  वातावरण में ढलने की कोशिश कर रहा होता है और नई नई चीजों का इस्तेमाल करना सीख रहा होता है।

शिशु की त्वचा झुर्रियों वाली और काफी शुष्क होती है, त्वचा में नमी बनाए रखने के लिए नियमित मॉइस्चराइजेशन की जरूरत होती है। हालांकि तेल मालिश काफी मददगार होती है, लेकिन स्नान के बाद आपको कुछ अच्छे लोशन या क्रीम लगाने पड़ सकते हैं। रस्टिक आर्ट एलो आलमंड बेबी लोशन प्रमाणिक जैविक अवयवों से बना है ओर यह  खनिज तेल, पैराफिन और अन्य विषाक्त पदार्थों से मुक्त है। यह सौम्य लोशन हर उम्र के शिशुओं और बच्चों के लिए सुरक्षित है।

इन दिनों अधिकांश माताएं अपने आराम और सुविधा के लिए डिस्पोजेबल डायपर (एक बार उपयोग कर फेंक देने वाली लंगोटी) का उपयोग करती हैं और उन्हें यह एहसास भी नहीं होता कि बच्चे की कोमल त्वचा पर और पर्यावरण पर इसका कितना बुरा  प्रभाव पड़ेगा।यद्यपि हम  नरम कपड़े के डायपर की सलाह देते हैं।नैपी रैश,मच्छर के काटने पर ओर छोटी मोटी  त्वचा  से जुड़ी समस्या होने पर नीम तुलसी एलोवेरा जेल लगाने का मशवरा देते हैं।

नन्हे मुन्ने शिशु के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कपड़े  सूती होने चाहिए और बिस्तर बहुत नरम कपास का बना होना चाहिए। छोटे बच्चों के कपड़े बहुत बार बदलने पड़ते हैं और सामान्य लोगों की तुलना में अधिक बार धोने भी पड़ते हैं।लेकिन हमें यह महसूस ही नहीं होता है कि इन कपड़ों को धोने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले डिटर्जेंट अत्यधिक विषैले होते हैं क्योंकि उनमें वाष्पशील तेल मिले होते हैं और उनके इस्तेमाल से त्वचा की एलर्जी, एक्जिमा, सोराइसिस,सांस लेने में असुविधा जैसी गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।रस्टिक आर्ट लिटिल लॉन्ड्री  पाउडर नारियल के तेल से बना है और इसमें इस्तेमाल की गई सामग्री  पूर्ण रूप से  नॉनटॉक्सिक है। यह  लिटिल लॉन्ड्री पाउडर शिशु के कपड़े  और बिछोने  धोने के लिए पूर्ण रूप से सुरक्षित है। इस  लॉन्ड्री  पाउडर  को इस्तेमाल  करने वालों से  एलर्जी या सांस लेने में तकलीफ़ की कोई शिकायत आज तक नहीं आई है।

शिशु हमारा भविष्य हैं और यह ग्रह ही उनका एकमात्र घर है।माता पिता के रूप में हमें दोनों का ख्याल रखना चाहिए, प्रदूषित ग्रह आपके स्वस्थ बच्चे के लिए भी अंतहीन स्वस्थ समस्याएं पैदा कर सकता है। इसलिए समझदारी से चुनें, प्यार से देखभाल करें और अपनो के लिए साफ और सुरक्षित प्रदूषण मुक्त घर छोड़े।

 

यहां जैसे कि हम नन्हे मुन्ने बच्चे के बारे में बात कर रहे हैं तो हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि बच्चे की यात्रा जन्म से बहुत पहले ही  शुरू हो जाती है। नन्हे मुन्ने बच्चे की होने वाली मां को नॉनटॉक्सिक उत्पादों का इस्तेमाल पहले से ही शुरू कर देना चाहिए ओर इस शुभ शुरुआत करने के लिए  रस्तिक आर्ट पर्सनल केयर और होम केयर उत्पादों से बेहतर ओर कुछ हो ही नहीं सकता, तो आईये हम सब मिल कर  बच्चे का स्वागत करने के लिए एक सुरक्षित आश्रय बनाएं। 

आपके नन्हे मुन्ने के जीवन में हंसी खुशी और प्यार हमेशा बना रहे।

 

Rustic art

You have successfully subscribed!